ट्रेन से यात्रा करने वाले लोगों के लिए यह राहत वाली खबर है। आप जल्दी में हैं और रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर पर भीड़ है तो चिंता की बात नहीं। बिना लाइन लगे ही टिकट मिल जाएगी। आपको स्टेशन पर टीटीई ही टिकट दे देंगे। इसके लिए उन्हें हैंड हेल्ड डिवाइस से लैस करने पर काम चल रहा है। हां, आरक्षण नहीं सिर्फ जनरल क्लास के टिकट के लिए ही यह सुविधा उपलब्ध होगी। ध्यान रखना होगा कि ट्रेन खुलने के पहले तक ही आप टिकट ले सकते हैं। ट्रेन में बैठने के बाद यह सुविधा नहीं मिलेगी। टीटीई को इसके लिए हैंड हेल्ड डिवाइस की सुविधा मुहैया कराई जाएगी, ताकि मौके पर ही यात्रियों को टिकट उपलब्ध करा सकें। रांची रेलवे स्टेशन सहित दक्षिण पूर्व रेलवे के कई ए-वन स्टेशनों पर इसकी सुविधा होगी।

तीन महीने में मिलेगी सुविधा
अगले तीन महीने में दक्षिण पूर्व रेलवे कई स्टेशनों पर हैंड हेल्ड डिवाइस मिलने के साथ इसकी सेवा शुरू हो जाएगी। टेंडर की प्रक्रिया पूरी होते ही, पहले चरण में 850 हैंड हेल्ड डिवाइस विभिन्न स्टेशनों पर देने की योजना है। सफल प्रयोग के बाद दूसरे चरण में इसकी संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी। फिलहाल बताया जा रहा है कि इसमें टीटीई संबंधित यात्री से तय किराया के साथ 10 रुपये अतिरिक्त शुल्क लेंगे और गंतव्य स्थल का टिकट देंगे।

मोबाइल एप से भी अनारक्षित टिकट
रेलवे यात्रियों के लिए एक और सुविधा जल्द शुरू करने वाला है। अब मोबाइल एप की मदद से भी आप अनारक्षित टिकट कटा सकेंगे। जल्द इसकी सेवा रेलवे शुरू करेगा। इसके लिए यात्रियों को आर वॉयलेट में कुछ राशि रखनी होगी, जिसके माध्यम से टिकट कटा सकेंगे। यह एप स्टेशन के 100 मीटर पहले से काम करेगा। दरअसल ट्रेन से सफर के दौरान कई बार ऐसी स्थितियों का सामना करना पड़ता है कि ट्रेन छूटने वाली है, टिकट काउंटर पर कतार लंबी हैं तो आप टिकट नहीं ले पाते। अभी उनके पास कोई दूसरा विकल्प भी नहीं होता। अनारक्षित टिकट काउंटर के अलावा कहीं भी उपलब्ध नहीं होता। ऐसे में बिना टिकट ट्रेन में चढ़ने के बाद जुर्माना भरना पड़ता है, लेकिन अब टेंशन लेने की कोई जरूरत नहीं है।

यात्रियों की सुविधा को देखते हुए जल्द ही टीटीई को इसकी सेवा मुहैया कराई जाएगी। पहले चरण 850 हैंड हेल्ड डिवाइस मिलेगा, जिसे दक्षिण पूर्व रेलवे के स्टेशनों को दिया जाएगा। तीन महीने में इसकी सेवा मिलनी शुरू हो जाएगी। वहीं, मोबाइल एप पर भी चर्चा चल रही है, इसके माध्यम से अनरिजवर्ड टिकट काटा जा सकेगा।’

-एके झा, चीफ कमर्शियल मैनेजर, दक्षिण पूर्व रेलवे।