Haryana : केन्द्र सरकार ने भ्रष्टाचार पर कार्रवाई करते हुए आयकर विभाग के 21 अफसरों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

बता दें कि केन्द्र सरकार ने भ्रष्ट अधिकारियों पर कड़ी कार्ऱवाई करते हुए समय से पहले उनका कार्य़काल समाप्त कर दिया है। सरकार ने CBDT में कार्यरत ग्रुप बी के 21 आयकर अधिकारियों को भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने पर उन्हें जबरन रिटायर कर दिया है। इन अधिकारियों को लोक हित में नियम 56(जे) के तहत अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी है। दरअसल पिछले कुछ महीनों में 64 वरिष्ठ कर अधिकारियों समेत कुल 85 अधिकारियों पर भ्रष्टाचार या सीबीआई की जांच के कारण उन्हें जबरन रिटायर कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से दो बार  कर प्रणाली में भ्रष्टाचार के खिलाफ रोष वयक्त किया था। पहली बार लाल किले से भाषण देते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि कर प्रशासन में कुछ छिपे हुए लोग है जिन्होंने अपनी शक्ति का गलत प्रयोग किया है। इन अधिकारियों ने कर दाताओं का उत्पीड़न किया है।