CHANDIGARH : भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी के गठबंधन की सरकार प्रदेश के प्रत्येक नागरिक व हर क्षेत्र के हित्त में बेहतर काम करेगी। ये बात आज प्रदेशवासियों और विपक्ष को विशवास दिलाते हुए हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा की 14वीं विधानसभा के पहले सत्र की दूसरे दिन की कार्यवाही के दौरान राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते हुए कही। अपने भाषण के दौरान  डिप्टी सीएम दुष्यंत ने ये भी सपष्ट किया कि गठबंधन सरकार हरियाणा विधानसभा के अगले सत्र में केवल हरियाणवी युवाओं के लिए 75 प्रतिशत रोजगार का बिल लेकर आएगी।

सबसे पहले सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने खेल को हरियाणा का महत्वपूर्ण अंग बताते हुए खेलों को बढ़ावा देने की बात कही। उन्होंने कहा कि 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए हरियाणा के पास कम ही वक्त बचा है इसलिए प्रदेश से जुड़े इस अहम विषय खेल को बढ़ावा देना अति आवश्यक है।

डिप्टी सीएम दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा वह राज्य है जो ओलंपिक, कॉमनवेल्थ, एशियन जैसे बड़े खेलों में देश में एक तिहाई पदक लाने का काम करता है। सदन में दुष्यंत चौटाला ने अपील करते हुए कहा कि हम सबको मिलकर खिलाड़ियों की मदद करनी चाहिए ताकि खेलों की मेडल टैली में एक तिहाई की जगह आधे मेडल केवल हरियाणा राज्य के खिलाड़ियों के हो। उन्होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा में भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान व विधायक संदीप सिंह भी हैं, इनके अलावा अन्य कई युवा साथी भी विधायक चुनकर विधानसभा पहुंचे है। ऐसे सब युवाओं को मिलकर खेलों को बढ़ावा देने लिए कदम उठाने चाहिए।

वहीं अपने स्पीच के दौरान उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस आधुनिक युग में सदन का डिजिटलाइजेशन होना अति आवश्यक है। दरअसल, उन्होंने विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता द्वारा सदन में फोन की सहायता से अभिभाषण पर चर्चा करने के वाक्य का जिक्र करते हुए उन्हें इस पहल की बधाई दी। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सदन में जब स्पीकर महोदय ने मोबाइल के जरिए अभिभाषण पर चर्चा करने शुरू की तो सदन में बैठे कई साथियों ने उनका विरोध करते हुए कहा कि “सदन में फोन अलॉव नहीं है”। उन्होंने कहा कि इस आधुनिक युग में सचिवालय का सारा काम हमें डिजिटल करना पड़ेगा।

सदन में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने अपने लोकसभा के अनुभव को सांझा करते हुए बताया कि वहां सभी कामों को डिजलीकरण हुआ था। उनके लोकसभा में सांसद के कार्यकाल के दौरान कोई भी सांसद प्रशनकाल के दौरान कागज पर हाथ से लिखकर प्रशन नहीं देता था क्योंकि सारे प्रश्न ऑनलाईन दिए जाते थे। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत ने स्पीकर महोदय से आग्रह करते उम्मीद जताई कि विधानसभा अध्यक्ष सदन को डिजिटलाइजेशन की ओर लेकर जाएंगे और पुरानी कागज प्रथा से सदन को दूर करके मोबाइल, टैब आदि के जरिए आधुनिक बनाएंगे।

वहीं उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने विधानसभा में विपक्ष को विश्वास दिलाते हुए कहा कि भाजपा-जेजेपी गठबंधन की सरकार प्रदेश हित्त में काम करेगी। उन्होंने कहा कि एचटेट के लिए परीक्षा केंद्र निकट करके गठबंधन सरकार ने सराहनीय कदम उठाया है जिसकी सबको तारिफ करनी चाहिए। सदन में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने गठबंधन सरकार के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा और जेजेपी दोनों कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के लिए जल्द कमेटी भी बनाएगी और उसे मजबूती के साथ आगे ले जाने का काम भी करेगी। उन्होंने बताया की दोनों पार्टियों के घोषणा पत्र की करीब 72 घोषणाएं ऐसी है जिनमें कोई ज्यादा अंदर नहीं है। वहीं अपने भाषण के दौरान दुष्यंत चौटाला ने ये भी सपष्ट किया कि वे प्रदेश के  युवा वर्ग के प्रति बहुत गंभीर है और हरियाणा विधानसभा के अगले सत्र में केवल हरियाणवी युवाओं के लिए 75 प्रतिशत रोजगार का बिल लेकर आएंगे।

साथ ही दुष्यंत चौटाला ने कहा कि किसानों की फसल का एक-एक धाना खरीदा जाएगा और किसान हित के लिए कई अन्य योजनाएं लागू की जाएगी। उन्होंने कहा कि रेणुका, किशाऊ और लख्वार बांध परियोजना पर काम शुरू करना अति आवश्यक है तो वहीं सरकार कोर्ट में पेंडिंग पड़ी एसवाईएल, हांसी-बुटाना नहर का कार्य पूरा करवाने का काम करेगी।

इनके अलावा उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गरीब लोगों के ईलाज के लिए जिला स्तर पर सरकारी अस्पतालों में विशेष सुविधाएं मिलेगी। पैरा मिलिट्री के जवानों को भी विशेष सुविधाएं दी जाएगी। कर्मचारियों का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा।