फरीदाबाद : दिल्ली पुलिस की बर्बरता के खिलाफ लघु सचिवालय सैक्टर-12, मैन गेट पर दिल्ली पुलिस का पुतला फूंका, कडे शब्दों में निन्दा की, दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारे लागाये और तीस हजारी कोर्टघ्के वकील भाईयों का समर्थन किया। बार कॉन्सिल पंजाब एण्ड हरियाणा के पूर्व मनोनित सदस्य शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने कहा कि सरकार से अपील की कि अधिवक्ता सुरक्षा कानून को जल्द से जल्द पारित करें।

ताकि ऐसी घटना दूबारा से ना हो। वशिष्ठ ने कहा कि पुलिस ने वकील के उपर सीधी गोली चलाकर और वकीलों को वकीलों के चैम्बरों में ही लाठी डन्डों से पीटना पुलिस गुंडागर्दी को दर्शाता है। पुलिस वालों ने पुलिस मुख्यालय पर एकत्रित होकर के वकीलों पर दबाव बनाया जा रहा है और उनके खिलाफ झूंठे मुकदमें दर्ज करने व अपने उपर दर्ज मुकदमों कों कैंसिल कराने की रणनीति है। जिला बार एसोसियसन कें महासचिव नरेन्द्र पाराशर ने कहा की फरीदाबाद का हर वकील साथी दिल्ली के वकीलों के साथ है।

इस मौके पर वरिष्ठ अधिवक्ता कॅवर दलपत सिंह, पूर्व महासचिव सतबीर शर्मा, अनिल पाराशर, बिजेन्द्र पाराशर, कोकल पाराशर, सतीश चौहान, वी$डी$ पाराशर, संजय दीक्षित, लक्षण तंवर, मुवीन खान, विजय यादव, कुलदीप जोशी, मनोज कुमार, आशिष, सतपाल नागर, अफाक खान, हरदीप विसोया, पवन कौशिक, धर्म सिंह, प्रवीन त्यागी, व आदि सैण्कडों अधिवक्ता मौजूद थे।