फरीदाबाद: जिले के अनंगपुर के रहने वाले सुधीर भड़ाना की 25 नवम्बर को उत्तर प्रदेश में उस समय हत्या कर दी गई थी जब वो अपने भतीजे की शादी में गए थे। धौलाना थाना क्षेत्र के गांव उदयरामुर नगला में सुधीर को उस समय गोली मारी गई जब बारात की विदाई होने वाली थी। सुधीर को कई गोलियां लगीं जिसके बाद मौके पर ही उनकी मौत हो गई और कई लोग घायल भी हुए क्यू कि नकाबपोश अंधाधुंध गोलिया चला रहे थे। हत्या को लगभग 6 दिन हो गए हैं और सुधीर के परिजन न्याय न मिलने से परेशान हैं जिसके बाद आज अनंगपुर और आस पास के गांव वालों में अनंगपुर चौक पर कैंडल मार्च निकाल न्याय की गुहार लगाईं।
सुधीर की हत्या के बाद यूपी पुलिस का कहना था कि कि इस हत्याकांड के पीछे एक मासूम बच्ची से रेप के मामले में गिरफ्तार आरोपी का हाथ हो सकता है  जो जेल में बंद है और उसको सजा भी हो चुकी है। यूपी पुलिस के सूत्रों की मानें तो मृतक सुधीर पैरोकारी कर पीड़ित अपने दोस्त के परिवार की मदद कर रहा था। परिणामस्वरूप उसकी रेप के आरोपी से रंजिश चल रही थी।
आरोपी ने जेल से ही सुधीर को सबक सिखाने व हत्या करने की चेतावनी दी थी। समझा जाता है कि सुधीर ने इस धमकी को गंभीरता से नहीं लिया और उसकी हत्या हो गई।इस मामले में पांच लोगों को नामजद किया गया जिनमें से अधिकतर आरोपी अनंगपुर गांव के ही हैं। फिलहाल पुलिस ने अभी तक इस हत्याकांड का पूरा खुलासा नहीं किया है। सीओ पिलखुवा उत्तर प्रदेश प्रीतम पाल सिंह लगातार इन टीमों को कोआर्डिनेशन कर आरोपियों की तलाश करा रहे हैं। पुलिस अक्षीक्षक संजीव सुमन ने इस मामले का खुलासा करने के लिए कड़े निर्देश दिये हैं लेकिन पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं।
आज शाम हजारों लोग अनंगपुर चौक पर एकत्रित हुए और इन्साफ की गुहार लगाते हुए कैंडल मार्च निकाला।  इस मौके पर धर्मबीर भड़ाना, चौधरी राज आर्य उर्फ़ बिट्टू , प्रवेश भड़ाना,डब्बू भड़ाना, कृष भड़ाना, योगेश भड़ाना, ललित भड़ाना, राजेश भड़ाना, टीटू भड़ाना, सतपाल भड़ाना, नन्द किशोर भड़ाना, अशोक भड़ाना, मानू गुर्जर  आदि मौजूद थे। लोगों की मांग है कि सुधीर की हत्या करने वाले तुरंत गिरफ्तार किये जाएँ और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले।